दिल्ली के बारे में स्टेंडअप कॉमेडियन अलग ही रॉय रखते हैं। वह दिल्ली को बहुत करीब से देखते हैं। कोई ईस्ट दिल्ली और साउथ दिल्ली में फर्क़ बताता है तो कोई दिल्ली के ट्रेफिक को लेकर बात करता है। दिल्ली के बारे में हसते-हसते जानना है तो इनसे मिलिये।

मयंक पांडे

मयंक पांडे ऐसा मानतें हैं कि दिल्ली वाले इतने ज़्यादा पोलयूशन में रहते हैं , वह पोलयूशन के आदी हो चुके हैं। दिल्ली वाले कार्बन डाई ऑकसाईड लेकर ऑकसीजन छोड़ते हैं”आज से पचास साल बाद जब प्रलय आयेगी तो दो जीव बचेंगे कोकरेज और दिल्ली वाले ” दिल्ली के पोलीयूशन पर मयंक पांडे कुछ इस तरह अपने जॉक्स बोलते हैं और सुनने वालों को हसा-हसा कर बेहाल कर देते हैं।

निशांत तंवर

निशांत तंवर दिल्ली के लड़कों की बीयर पार्टी का जिक्र करते हुए कहते हैं कि “दिल्ली के बाहर किसी भी स्टेट में  ड्राई डे का मतलब होता है ड्राई डे, और दिल्ली में ड्राई डे का मतलब होता है गुडगांव से लेकर आनी है। पीने वाले दोस्तों में एक मेक माय ट्रिप होता है, जो एक घूंट पीते ही बोलता है, चलो यार गोवा चलते हैं” दिल्ली में अगर आपने दोस्तों के साथ बीयर पार्टी की है तो निशांत की कॉमेड़ी आपको ज़रूर पसंद आयेगी। दिल्ली मे हैं तो एक बार ज़रूर जायें।

आकाश गुप्ता

दिल्ली मेट्रो के बारे में आकाश गुप्ता जो बताते हैं। ” दिल्ली में किस तरह के लोग सफर करते हैं,  किसी को जाना होता है, गुडगांव और नोयड़ा की ट्रेन में बैठ जाता है। कोई मेट्रो में उल्टी ही कर जाता है” दिल्ली मेट्रो सफर के किस्से आकाश गुप्ता इतने मजेदार तरीके से बताते हैं, आप हसी नहीं रोक पाओगे हसोगे और हसते ही जाओगे।

गौरव गुप्ता

गौरव गुप्ता ईस्ट दिल्ली वालों के बारे में जो कहते हैं। ईस्ट दिल्ली वाले भी सुनकर हसते हुए कहते हैं। बात तो सही है। ” ईस्ट दिल्ली वालों के दिल में एक छुपी हुई इच्छा होती है। किसी भी तरह साउथ दिल्ली की लड़की को पटाना है” ईस्ट दिल्ली का लड़का साउथ दिल्ली का बनकर लड़की से फोन पर बात कर रहा होता है। पीछे से एक आवाज आती है कबाड़ी, कबाड़ी, कबाड़ी”  वह दिल्ली और साउथ दिल्ली में क्या फर्क़ है बहुत ही अच्छे से हसाते -हसाते सुनाते हैं।