अनुपम ख़ेर अकेले एक्टर हैं,जिन्होंने जवान होने के बावजूद एक बूढ़े आदमी की के किरादर से अपना फ़िल्मी सफ़र शुरू किया था।इस फ़िल्म के बाद बॉलीवुड में उनकी छवि ही एक बूढ़े पिता की बन गई।फ़िल्मों में उन्हें पिता के ही रोल मिलने लगे। उन्होंने इंकार भी नहीं किया। उन्हें जो भी मिला उन्होंने बड़ी ही इमानदारी से निभाया। वह शायद पहले एक्टर हैं, जिन्होंने जवान होने के बावजूद सबसे ज़्यादा पिता के रोल निभाये। वह कभी पिता बनाकर हसाते रहे।कभी बहुत ही रूढ़िवादी पिता बनकर ड़राते रहे। कभी अच्छे पिता बनकर बच्चों पर खुशियां लुटाते रहे।उनकी हर फ़िल्म में पिता और बच्चों के बीच एक अनोखा रिश्ता रहता है।आज भी उनकी हर फ़िल्म बहुत कुछ भूला सा याद दिला देती है।

# सारांश

यह अनुपम ख़ेर की पहली फ़िल्म थी। वह फ़िल्म में एक 65 साल के बूढ़े बने थे। इस फ़िल्म के लिए उन्हें फ़िल्म फेयर और विदेशी अवार्ड़ भी मिले।

1.anupam kher
source

#दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे

अनुपम ख़ेर ने इस फ़िल्म में एक एन.आर.आई पिता की भूमिका निभाई है।इस फ़िल्म के लिए भी उन्हें फ़िल्म फेयर से नवाजा गया।

2 anupam kher
source

#ड़र

एक जवान बेटे का दर्द पिता के लिए क्या होता है। इस  फ़िल्म में अनुपम ख़ेर के चेहरे पर साफ दिखाई देता है। इस फ़िल्म के लिए भी उन्हें फ़िल्म फ़ेयर मिला।

3 darr
source

#ख़ेल

इस फ़िल्म में अनुपम माधुरी के अंकल बने हैं।इस फ़िल्म के लिए भी उन्हें फ़िल्म फेयर से नवाजा गया था।

anupam kher
source

#राम लखन

राम लखन में अनुपम ख़ेर ने माधुरी के पिता का किरदार निभाया था। वह हुबहू गांव के एक दुकान दार लगे थे। इस फ़िल्म के लिए भी उन्हें फ़िल्म फेयर से नवाजा गया।

anu
source

#कुछ कुछ होता है

अनुपम ख़ेर ने कुछ कुछ होता है  में रानी मुखर्जी के पिता का किरदार निभाया है। वह कालेज के प्रिसिंपल भी होते हैं। फ़िल्म में जब जब आते हैं, हसी आती है।

kuch kuch
source

#हम आपके हैं कौन

हम आपके हैं कौन अनुपम ख़ेर की सबसे अच्छी फ़िल्मों में से एक फ़िल्म है।इस फ़िल्म  में एक समझदार पिता का किरदार निभाया है।

gg
source

#दिल

इस फ़िल्म में अनुपम ख़ेर को जिसने नहीं देखा है उसने उनकी ज़िंदगी की एक बेहतरीन अदाकारी को नहीं देखा है।

8
source

#दिल है के मानता नहीं

एक अमीर आदमी जो अपनी जिद्दी बेटी से परेशान है। इस फ़िल्म में भी उन्होंने कमाल का किरदार निभाया है।

9
source

#एम.एस धोनी

इस फ़िल्म में ख़ेर एक एक मिड़िल क्लास पिता बने हैं। फ़िल्म को देखने पर परिवार याद आ जाता है।

10
source

#चाहत

इस फ़िल्म में खुशमिजाज पिता का किरदार निभाया है। इस फ़िल्म में भी अनुपम ख़ेर शाहरूख़ के पिता बने हैं।

11
source

#गुमराह

इस फ़िल्म  में एक शराबी पिता का किरदार निभाया है। इस किरदार को बहुत याद किया गया।

12
source

# खोसला का घोंसला

यह फ़िल्म जिसने देखी है वह कभी नहीं भूल सकता है। जिसने नहीं देखी है, उसने बहुत कुछ नहीं देखा है।

13
source

#विवाह

इस फ़िल्म में एक भावुक पिता के किरदार में  उन्होंने जान ड़ाल दी है।

14
source

#क्या कहना

इस फ़िल्म में देखना चाहिए कि एक पिता अपनी बेटी को क्या कुछ दे सकता है। एक अच्छा पिता कैसा होता है, इस फ़िल्म को देखना चाहिए।

15
source

इन फ़िल्मों को देखकर सच में आपको अपने बचपन की याद आ जायेगी। आपको याद आयेंगे कुछ बीते हुए पल,याद आयेगा और बहुत कुछ ऐसा जिसे आप भूल चुके हैं। आपको को कुछ याद आये तो कमेंट कर सकते हैं।