इस हफ्ते यानी 27 सितंबर को हिन्दी की कोई बड़ी फ़िल्म रिलीज नहीं हो रही है। हिन्दी की लेकिन पांच फ़िल्में रिलीज हो रही है। इनका नाम भी हो सकता है आपने नहीं सुना हो लेकिन फ़िल्मों के बारे में जान सकते हैं कुछ ख़ास बातें।

‘मैं ज़रूर आऊंगा’

इस फ़िल्म की कहानी हैट स्टोरी जैसी है। इस कहानी में प्रेम है, विश्वास है धोखा है और उस धोखे का बदला है। एक बड़ा बिजनेसमैन ( अरबाज़ ख़ान) एक लालची लड़की से शादी कर लेता है। वह लड़की एक फोटोग्राफर प्रेमी(विकास शर्मा) के साथ मिलकर उसे जान से मार देती है। उसी का बदला लेने के लिए उसका पति वापस आता है।

‘अर्जुन सिंह आई.पी.एस’

यह कहानी एक अर्जुन सिंह(प्रियांशु चटर्जी) नाम के आई पी.एस की है, जो नारी निकेतन सा गायब एक लड़की की इंवेस्टीगेशन के लिए उत्तर प्रदेश पहुंचता है। इंवेस्टीगेशन पर उसे पता चलता है कि मंत्री बालक नाथ( गोविंद नाम देव) औऱ उसके बेटे का इसमें हाथ है। इस मामले की गवाह दुर्गा से उसे प्यार हो जाता है। यह प्रेम, फर्ज़ और इंसाफ की कहानी है।

‘प्यार कर ले’

यह हैदराबादी बैकग्राऊंड की फ़िल्म है। इस फ़िल्म में हालांकि कोई स्टार कास्ट नहीं है, कोई बड़ा निर्देशक नहीं है। फ़िल्म का ट्रेलर देखने के बाद विचार कर सकते है।

‘झलकी’

फ़िल्म की थीम एक सोशल मुद्दे पर आधारित है। गांवों से गायब होते छोटे बच्चे और शहरों में काम करते भीख मांगते बच्चों की कहानी है। किस तरह चंद रूपयों की ख़ातिर लोग अपने ही बच्चों को मजदूरी करने के लिए ठेकेदार को दे देते हैं। जो बच्चे गायब हो जाते हैं  वो कहां जाते हैं।

फ़िल्म की कहानी मशहूर निर्देशक प्रकाश झा ने लिखी है। फ़िल्म में संजय सूरी, बोमन इरानी, दिव्या दत्ता और गोविंद नामदेव नज़र आयेंगे।

‘लिटिल बेबी’

इस फ़िल्म की थीम आज की युवा पीढ़ी पर आधारित है। एक लड़की(गुलनाज़ ) और उसके पिता( प्रियांशु चटर्जी) रिश्ते और अधिकार की कहानी है। बाप को लड़की की फ़िक्र है और बेटी को बाप से आजादी चाहिए। बाप किस तरह बेटी को वापस राह पर लाता है। इसी पर फ़िल्म आधारित है।

यह सारी फ़िल्में 27 सितंबर को रिलीज हो रही हैं। किस्मत से 27 सितंबर को कोई बड़ी फ़िल्म रिलीज नहीं है।