this week

इस हफ्ते रिलीज होंगी यह चार फ़िल्में

इस समय हर हफ्ते कितनी भाषाओं में कितनी फ़िल्में रिलीज होती हैं। कितने प्लेटफार्म पर फ़िल्में रिलीज होती हैं। इस भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में सिर्फ उन्हीं फ़िल्मों का पता चल पाता है। जिन फ़िल्मों के बारे में कोई बता देता है या फिर जो बार-बार आपके स्क्रीन पर आ रही होती हैं। ऐसे में ऐसी बहुत सी अच्छी फ़िल्मों का हमें बहुत बाद में पता लग पाता है। इस महीने 19 जुलाई को यह फ़िल्में रिलीज हो रही हैं।

‘झूंठा कहीं का’

फ़िल्म झूंठा कहीं का नाम से 1979 में एक फ़िल्म बनी थी। यह इत्तेफाक़ की बात है कि उस फ़िल्म में भी ऋषि कपूर थे। बस उस वक़्त वो ज़रा जवान थे। फ़िल्म का ट्रेलर अगर आफ देखेंगे तो पता चलेगा फ़िल्म कॉमेडी जॉनर की है। फ़िल्म में ऋषि कपूर के साथ जिम्मी शेरगिल, मनोज जोशी और नये सितारों में सन्नी नीरज नज़र आयेंगे। फिलहाल हनी सिंह की आवाज में गाया फ़िल्म का एक गाना हर किसी की ज़बान पर है।

‘फैमिली ऑफ ठाकुरगंज’

फैमिली ऑफ ठाकुर गंज में सौरभ शुकला दमदार किरदार में नज़र आयेंगे। उनके साथ एक बेहतरीन जिम्मी शैरगिल और माही गिल की जोड़ी होगी,  जो साहब बीवी और गेंग्सटर जैसी फ़िल्मों से अपने आपको साबित कर चुके हैं। इनके अलावा फ़िल्म में पवन मल्होत्रा और मुकेश तिवारी भी होंगे।

फ़िल्म में क्राइम, आपसी रिश्तों की रंजिश, शहर में बढ़ती दबंगई, प्रेम, मार पीट एक्शन सब कुछ है।

‘पेनल्टी’

फ़िल्म पेनल्टी यूं तो फुटबॉल के खेल पर आधारित है। फुटबॉल भारत में उतने बड़े पैमाने पर आज भी नहीं खेला जाता है। भारत में फुटबॉल नोर्थ ईस्ट में ज़्यादा खेला जाता है। उस के विधार्थी लेकिन जब पढ़ने के लिए हिन्दी क्षेत्र में आते हैं तो उन्हें अलग तरह से देखा जाता है। यह कहना है फ़िल्म के निर्देशक शुभम सिंह का।

शुभम सिंह ने फुटबॉल खेल के जरिये नश्लीय भेदभाव की इस समस्या को दिखाने की कोशिश की है। जो किसी भी सभ्य समाज के लिए ठीक नहीं है। इस फ़िल्म फ़िल्म में फुटबॉल की एक टीम के साथ कोच के रूप में के.के. मेनन नज़र आयेंगे।

‘दा लायन किंग’

दा लायन किंग हॉलीवुड की एनीमेशन फ़िल्म है। फ़िल्म में जंगल के राजा शेर के प्रति जंगल की भूमिका को दिखाया गया है। एक राजा की क्या जिम्मेदारियां होती हैं वह दिखाया गया है। यह फ़िल्म इंग्लिश, तमिल, तेलगु और हिन्दी में 19 जुलाई को रिलीज हो रही है।

हिन्दी में देखने वालों को लिए ख़ास बात है कि फ़िल्म दो किरदार हैं। मुफासा और सिम्बा। हिन्दी में देखने वाले सिम्बा की आवाज में शाहरूख़ ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान की आवाज को सुन सकते हैं और मुफासा की आवाज में शाहरूख़ खान की आवाज को सुन सकते हैं।

इन फ़िल्मों में कोई सुपर स्टार नहीं है। इन फ़िल्मों को लेकिन फायदा इस बात से पहुंचेगा कि इस हफ्ते कोई बड़ी फ़िल्म रिलीज नहीं है। हालांकि सुपर 30 बॉक्स ऑफिस पर है और जज़मेंटल है क्या रिलीज होने वाली है।