भारतीय सेनिकों की हिम्मत और बलिदान को दर्शातीं हिन्दी सीरीज

भारतीय सेना अपनी हिम्मत साहस और प्रेम के लिए दुनिया भर में जानी जाती है। भारतीय सेनिकों के साहस और वीर गाथाओं को कुछ लेखकों ने और निर्देशकों ने अपने स्तर से दिखाने की कोशिश की है। इनमें कुछ सीरीज तो सच्ची घटनाओं पर आधारित हैं।

आर्मी पर आधारित कंटेट को दर्शकों ने काफी पसंद भी किया है। यह सीरीज अलग-अलग प्लेट फार्म पर रिलीज हुई हैं। कौन सी सीरीज किस प्लेटफार्म पर मौजूद है जानने के लिए देखें।

‘बेताल’

निर्देशक: निखिल महाजन, पेट्रिक ग्राहम
कलाकार: विनीत कुमार, अहाना कुमरा, सुचित्रा पिल्लई, जतिन गोस्वामी, मंजरी पुपाला।
सीजन: 1 (2020)
प्लेटफार्म: Netflix

‘बेताल-पच्चीसी’ भारतीय लोककथाओं में बहुत ही लोकप्रिय कथा है। अरबी किताब ‘अलिफ लैला’ के मुकाबले की काहिनयां सिर्फ बेताल पच्चीसी में मिलती हैं। इस सीरीज का लेकिन उस बेताल-पच्चीसी धारावाहिक से कोई मतलब नहीं जो दूर्दशन पर बहुत बड़ी संख्या में देखा जाता था।

करण जौहर के बैनर तले बनी सीरीज बेताल भूतों पर विशवास करके आगे बढ़ती है। किसी अंग्रेज आर्मी अफसर का भूत है जो किसी तयखाने में बंद है। गांव वालों को उसके बारे में पता है। गांव वालों की बातों पर सरकार को भी यक़ीन है। सरकार उन भूतों से जंग के लिए आर्मी भेजती है। आर्मी और भूतों के बीच जंग होती है। आर्मी के जवान साबित कर देते हैं कि वो जल, थल, नभ हर जगह लड़ने में सक्षम हैं।

‘फॉरगॉटेन आर्मी’

निर्देशक: कबीर खान
कलाकार: सनी कौशल, एम.के.रैना, सरवरी वाघ, रोहित चौधरी, टी.जे भानु।
सीजन: 1 (2020)
प्लेटफार्म: Amazon prime

यह सीरीज दित्तीय विश्वयुद्द की भयावह तस्वीर को दिखाती है। दुनिया के सारे मुल्क किस तरह से एक दूसरे की जान के दुश्मन बने बैठे थे। उस वक़्त किस तरह भारतीय सिपाही ब्रिटिश सेना के ख़िलाफ होकर आजाद हिन्द फौज बनाते हैं। उसमे किस तरह औरत मर्द हिस्सा लेते हैं और भारत को आजाद कराने के लिए निकल पड़ते हैं। वह लोग कौन थे? उन्हीं वीर शहीदों की गाथा है।

‘स्टेट ऑफ सीज: 26/11’

निर्देशक: मैथ्यू ल्यूटवॉयलर, प्रशांत सिंह
कलाकार: अर्जन बाजवा, तारा अलीशा बैरी, अर्जुन बिजलानी, मुकुल देव, विवेक धहिया।
सीजन: 1 (2020)
प्लेटफार्म: ZEE5

यह सीरीज मुम्बई में ताज हॉटल पर हुए हमले पर आधारित है। किस तरह भारतीय वीरों ने अपनी जान पर खेलकर दुश्मनो का सामना किया था। इस सीरीज को संदीप उन्नीथन की किताब ‘ब्लैक टॉर्नेडो : द थ्री सीजेज़ ऑफ़ मुंबई 26/11’ को आधार मानकर लिखा गया है। इस सब्जेक्ट पर देश-विदेश में कई सारी फ़िल्में भी बन चुकी हैं। इस सीरीज को लेकिन क्रिटीक ने जो रेटिंग दी है वो किसी फ़िल्म को नहीं मिली है। उस भयानक हादसे पर यह एक बेहतर सीरीज है।

‘कोड एम’

निर्देशक: अक्षय चौबे
कलाकार: जेनिफर विंगेट, रजत कपूर, सीमा बिस्वास, अनीसा भट्ट।
सीजन: 1 (2020)
प्लेटफार्म: Alt Balaji

यह सीरीज भारतीय आर्मी के अंदर जात-पात और ऊंच नीच के फर्क को दिखाती है। इस सीरीज में दिखाया गया है कि एक आर्मी ऑफिसर जब तक अपने सिपाही को बराबरी का सम्मान नहीं देगा तब तक एकता शब्द के मायने कुछ नहीं हैं। यह दो पीढियों की सोच को दिखाती हैं। इस सीरीज को भी क्रिटीक के दुवारा काफी पसंद किया गया था।

‘दा फैमली मैन’

निर्देशक: कृष्णा डी.के, राज निदीमुरू
कलाकार: मनोज बाजपेयी, शारिब हाशमी, नीरज माधव, शरद केलकर।
सीजन: 1 (2019)
प्लेटफार्म: Amazon Prime

यह आर्मी के अंदर इंटेलीजेंस ऑफीसर की कहानी को दिखाती है। यह ऑफिसर बड़े-से बड़े मसअले हल कर लेता है लेकिन उसके बच्चे उसे परेशान करे रखते हैं। यह ऑफिसर जो अपनी घरेलू उलझनों में उलझा रहता है। इसके कंधों पर देश की इतनी बड़ी जिम्मेदारी है कि अगर यह ज़रा भी चूक जाये तो सबकी नींदे हराम हो जायें। यह ऑफिसर लेकिन अपनी जान पर खेलकर भी देश की हिफाजत करता है। इस सीरीज को भारत की अब तक की पांच अच्छी सीरीज में माना गया है।

‘बार्ड ऑफ ब्लड’

निर्देशक: रिभुदास गुप्ता
कलाकार: इमरान हाशमी, शोभिता धूलीपालिया, जयदीप अहलावत, शिशिर शर्मा।
सीजन: 1 (2019)
प्लेटफार्म: Netflix

यह सीरीज एक ऐसे आर्मी ऑफिसर की कहानी है जो अपने कुछ साथियों को छुटाने के लिए अफगान जाता है। यह वहां पहले भी रह चुका है। वहां जाते ही इसकी जान के पीछे लोग पड़ जाते हैं। इस ऑफिसर को अपनी जान भी बचानी है और अपने आदमियों को भी वापस लेकर जाना है। अफगान में छिपे गद्दारों को भी मारना है। यह सब कैसे होगा सीरीज देखने लायक है।

‘क़ाफिर’

निर्देशक: सोनम नायर
कलाकार: दिया मिर्जा, मोहित रैना, दारा संधु।
सीजन: 1 (2019)
प्लेटफार्म: Zee 5

यह एक बहुत ही प्यारी सी लव स्टोरी है। एक पाकिस्तानी औरत जिसे बच्चे ना होने के जुर्म में उसका पति मारता है। वह लड़की नदी में कूदकर अपनी जान देती है। लड़की लेकिन बच जाती है। वह पानी में बहती हुई इंडिया पहुंच जाती है। यहां उसे जैल में रखा जाता है। यहां की जैल में एक आदमी उसके साथ बलात्कार करता है। उसे एक बेटी होती है। जिसका केस एक इंडियन लॉयर लड़ता है। वह उसे आजाद तो करा देता है लेकिन मसअला बच्ची का बन जाता है। पाकिस्तान उस बच्ची को लेने से मना कर देता है।

‘दा टेस्ट केस’

निर्देशक: नागेश कुकनूर, विनय वैकुल
कलाकार: निमरत कौर, अतुल कुलकर्णी, राहुल देव, जूही चावला
सीजन: 1 (2018)
प्लेटफार्म: Alt balaji

यह एक ऐसी आर्मी महिला ऑफिसर की कहानी है जिसे अपने ही देश में अपने ही लोगों के बीच साबित करना पड़ता है कि महिला भी फौज में उनके बराबर लड़ सकती है। यह उस पहली महिला सिपाही की कहानी है जिसने अपने दम पर सब से लोहा लेकर साबित किया कि महिला भी पुरूषों के बराबर लड़ सकती हैं। इस सीरीज को दो बडे ही सुलझे हुए निर्देशकों ने बनाया है।

Naseem Shah: